Socialduty

Thoughts and society.

Thoughts and society  —— विचार ही मानव के सुख दुःख के साथी होते है. भारत में एक कहावत है कि जैसा खाये अन्न वैसे उपजे मन. यह जीवन कुदरत की अनमोल धरोहर है. व्यक्ति का जीवन विचारों पर निर्भर करता है. यदि विचार सकारात्मक हो तो रचनात्मक विचारों का पुंज उतपन्न होता है. यदि विचार […]

Socialduty

Factories and society.

Factories and society. 1688ई  के बाद दुनिया में बहुत कुछ बदलाव हुआ. इस परिवर्तन ने पूरी दुनिया पर प्रभाव  छोड़ा. आने वाला समय इससे जुड़कर आगे बढ़ा. जब कारखाने से उत्पादन शुरू हुआ तो पूरे संसार में मानव की क्षमता निखर कर सामने आयी. कारखाना पद्धति ने मानव के जीवन को बदल कर रख दिया. […]

Socialduty

Musibat se kaise nikle

Musibat se kaise nikle—-दोस्तों हर मानव के जीवन में मुसीबत आती रहती है. कुछ लोग मुश्किल से निकल जाते है कुछ लोग बिखर जाते है. परेशानी बिहीन जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है. दुनिया के हर कोने में हर इंसान के पास समस्या है. हर देश में समस्या का स्वरूप अलग अलग होता […]

Socialduty

Jivan ko jaane.

Jivan ko jaane—— हम सभी लोग हर दिन आर्थिक उपार्जन में लगे रहते है बिना यह जाने की हम इस जीवन से चाहते क्या है? हम सब जीवन में केवल भागे जा रहे है, भागे जा रहे है. आज बदलते दौर में यह विचार करना होगा कि हम अपने जीवन से दुनिया को क्या संदेश […]

Socialduty

Problem ko kaise hal kre.

Problem ko kaise hal kre —– इस धरती पर समस्या के अनेक रूप दिखायी देता हैं. लगभग हर इंसान  के जीवन में तनाव और समस्या होती हैं. जरूरत हैं उससे निकलने की. आदमी लूट पाट  चोरी बेईमानी, डाका, हत्या करता हैं यह सब तनाव के कारण होता हैं. हर इंसान अपना आर्थिक विकास करना चाहता […]

Socialduty

Khush kaise rahe.

Khush kaise rahe ——–जीवन में खुश रहना बहुत कठिन हैं. इसके लिये हम सब बहुत प्रयास करते हैं. जीवन में हर इंसान खुश रहना चाहता हैं पर यथार्थ में जीवन में हर इंसान बहुत दुःखी रहता हैं. खुशी क्या हैं —खुशी एक सोच हैं. एक अनुभूति हैं. एक अवस्था हैं. खुशी कोई वस्तु नहीं हैं. […]

Socialduty

Jivan aur yojna.

Jivan aur yojna —–यूरोप में एक विचार चलता हैं कि जो बिना योजना के इस धरती पर आता हैं, उसे झेलना  पड़ता हैं. इसमें कितनी  सच्चाई हैं यह शोध का विषय हैं, लेकिन आज के दुनिया में यह सामान्य नियमों में आ गया हैं. जिसका उदाहरण परिवार प्लान हैं जो आज हर युवा अपनाते हैं. […]

Socialduty

Kya kre jab har rahe ho lgatar.

Kya kre jab har rahe ho lagatar— दोस्तों हार और जीत जीवन का हिस्सा है, इससे घबराना नहीं चाहिये.  हर इंसान कुदरत के लिये विशेष होता है. सामान्य बातचीत में कहा जाता है कि सृष्टि किसी के साथ पक्षपात नहीं करती है. यह पूर्ण रूप से सत्य है. आप इसे सामान्य जीवन में देख भी […]

Socialduty

Fast food se labh aur hani, फास्ट फूड से लाभ और हानि.

Fast food se labh aur hani.फास्ट फूड आधुनिक दुनिया की खोज है. आधुनिक दुनिया में भोजन के अनेक रूप सामने आये है. आज अधिकांश लोगों के जीवन में फास्ट फूड एक जरूरत के रूप में स्थान बना चुका है. आज के जीवन शैली में इसका महत्वपूर्ण स्थान है. महानगरों के बच्चों में फास्ट फूड की […]

Socialduty

देखें और बदल डाले.

देखें और बदल डाले —जीवन में बहुत चीजें हमें ख़राब लगती है. कुछ चीजें सुन्दर  लगती है. जीवन इन दोनों के संघर्ष में रहता है. एक इंसान को जो वस्तु सुख दे सकती है वही वस्तु दूसरे को दुःख दे सकती है. इसमें अंतर केवल नजरिये का होता है. जीवन में दर्शक बन कर बहुत […]