Socialduty

Corona virus in India—

Corona virus in India——–=-=

यह एक घातक वायरस है सारा संसार इसी मुद्दे पर लगा है कि इस वायरस का जन्म कैसे हुआ, यह वायरस आखिर है क्या? पूरी दुनिया के अंदर किसी के पास इस प्रश्न का उत्तर नहीं है. दोस्तों चीन, इटली, स्पेन, ईरान, अमेरिका, फ्रांस, यूके, भारत, -पाकिस्तान, सऊदी अरब विश्व के लगभग 192 देशों में कोरोनावायरस का प्रकोप हाजिर है. पूरे संसार में लगभग 600 करोड़ की आबादी लाक डाउन में चल रही है. आधुनिक दुनिया में सबसे मुश्किल और कठिन अवसर है भारत के लिए, भारत के अंदर 135 करोड़ की आबादी है. पूरे संसार में किसी देश के पास इस परेशानी का हल नहीं है. सबसे अधिक इस समय कोई देश परेशान है तो वह देश भारत है. भारत की शासन व्यवस्था ने 25 मार्च 2020 से पूरे देश को लाक डाउन कर दिया है. मुंबई स्टॉक एक्सचेंज का लगभग 1800000 लाख करोड़ रुपए डूब चुका है. कोरोना वायरस के कारण मुंबई स्टॉक एक्सचेंज में हाहाकार मचा है. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की भी हालत ऐसी ही है. पूरे देश का प्रतिदिन लगभग कितने लाख करोड़ रुपए का नुकसान हो रहा है. भारत सरकार को लगभग दो लाख करोड़ रुपए जरूरी सेवाओं के लिए जारी करना पड़ा.

दोस्तों आज 28 मार्च 2020 को भारत कोरोना मरीजों की संख्या 720 से ऊपर पहुंच चुकी है. दोस्तों जो भारत के अंदर लाक डाउन है ऐसा अभी तक कभी नहीं हुआ था. देश के कुछ हिस्सों में कर्फ्यू भी लगाना पड़ा है.

कोरोना से कैसे बचें ——

हम सभी जानते हैं कि इस वायरस का इलाज अभी संभव नहीं है. दुनिया के वैज्ञानिक इस वायरस को नष्ट करने के लिए वैक्सीन बनाने में जुटे हैं परंतु अभी तक कोई सफलता नहीं मिली. अमेरिका, इटली तथा फ्रांस की अर्थव्यवस्था चरमरा चुकी है. यूरोप के 90% हिस्सा में हाहाकार मचा हुआ. किसी के पास कोई भी रास्ता नजर नहीं आ रहा है. आखिर इस महामारी को रोके तो कैसे रोके. दुनिया के शेयर बाजारों में किस देश का कितना नुकसान हुआ है इसका आकलन अभी नहीं किया जा सकता है. पर एशिया, अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया, और यूरोप की हालत बहुत ही चिंताजनक है. आपके गले में खराश हो, खांसी आ रही हो, बुखार हो, शरीर दर्द कर रहा हो, तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें बिना देर किए हुए. प्यारे दोस्तों यदि आपने समय रहते ध्यान नहीं दिया तो एक मरीज से कम से कम 10मरीज पैदा होंगे.

इस वायरस से बचने का एक ही मार्ग है वह केवल केवल घर में रहें. सामान्य खाना खाए. लोगों से सामाजिक दूरी बनाकर रखें अपने घर किसी को ना बुलाये, ना ही आप किसी के घर जाएं. इससे बचने के लिए सामान्य साबुन, सेनेटाइजर का प्रयोग करते रहे. भारत जैसे देश में सब के पास सैनिटाइजर उपलब्ध नहीं है परंतु सामान्य रूप से साबुन उपलब्ध है चाहे वह कितना ही गरीब क्यों ना हो, अपने रक्षा के लिए साबुन से हाथ को धोते रहें. इस वायरस का प्रकोप स्टील की रेलिंग, दरवाजे की कुंडी, खिड़की की कुंडली, फ्रिज की कुंडी आदि छूने से फैलता है. सांस के माध्यम से एक दूसरे से 6 फीट की कम दूरी होने पर बहुत तेजी से फैलता है.

कोरोना का भविष्य— अभी भी बहुत कुछ नहीं कहा जा सकता कि इस वायरस का स्वरूप आगे चलकर क्या होगा.

प्रकृति द्वारा समय-समय पर इस धरती पर अनेक प्रकार के अकल्पनीय रोगों को जन्म दिया गया है, परंतु यह वायरस बिल्कुल अलग किस्म का वायरस है. दुनिया के वैज्ञानिक, विचारक, सिद्धांतकार, डॉक्टर, सभी हैरान है कि इस वायरस का जन्म कैसे हुआ. इस वायरस का जन्म कैसे हुआ इसका सटीक वैज्ञानिक प्रमाण किसी के पास नहीं है.

अभी तक ज्ञात साक्ष्यों के आधार पर केवल सामाजिक दूरी के माध्यम से ही इसे रोका जा सकता है. हम घरों में रहे, बाहर ना निकले, बुखार, सर्दी जुकाम, सूखी खांसी आ रही हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें, आधुनिक दुनिया की यह एक बहुत बड़ी महामारी है इसको हल्के में ना लें. अपने देश के अंदर बहुत से ऐसे नागरिक हैं जो यह सोचते हैं कि यह वायरस हमारा क्या बिगाड़ लेगा, मैं उन दोस्तों से कहना चाहता हूं कि दोस्त ऐसा ना सोचे यह वायरस आपको और आपके परिवार को किसी को भी नुकसान पंहुचा सकता है, इसलिए अपने घरों में रहे जब तक भारत सरकार द्वारा कोई स्पष्ट निर्देश नहीं दिया जाता है भारत सरकार के निर्देशों का पालन हम सब करें. कहा भी जाता है कि जान है तो जहान है अरे भाई भविष्य का भारत तभी होगा ना जब हम सब सुरक्षित रहेंगे यदि हम सब सुरक्षित ही नहीं रहेंगे तो भविष्य के भारत का निर्माण कैसे करेंगे.

प्यारे दोस्तों मैं उम्मीद करता हूं कि हम सब मिलकर के नए भारत के निर्माण के लिए पूरी लगन के साथ काम करेंगे और अपने घर में रहेंगे घर से बाहर नहीं निकलेंगे, जब तक यह महामारी भारत में सामान्य रूप नहीं ले लेती मेरे कहने का मतलब है जब तक नए मरीज मिलने की संख्या कम नहीं हो जाती है. हम सब इस वायरस से बचने का हर संभव प्रयास करेंगे जो देश परिवार और समाज के हित में होगा.

दोस्तों बहुत-बहुत धन्यवाद कमेंट लाइक और शेयर जरूर करें.

Adesh Kumar Singh
Adesh Kumar Singh
I am adesh kumar singh, my education post graduate in sociology. My life target? What is the gole of life. My blogs www. thesocialduty.Com, my research only social issu, My phone nu mber-9795205824,my email-adeshkumarsingh93@gmail. com
http://www.thesocialduty.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *