Socialduty

Kya kre jab har rahe ho lgatar.

Kya kre jab har rahe ho lagatar—

दोस्तों हार और जीत जीवन का हिस्सा है, इससे घबराना नहीं चाहिये.  हर इंसान कुदरत के लिये विशेष होता है.

सामान्य बातचीत में कहा जाता है कि सृष्टि किसी के साथ पक्षपात नहीं करती है. यह पूर्ण रूप से सत्य है. आप इसे सामान्य जीवन में देख भी सकते है. हम कोई भी कार्य कर रहे हैं, लगातार उसमे असफलता मिल रही हैं. दोस्तों पहली चीज हैं की धैर्य रखें. धैर्य अधिकांश समस्या का समाधान हैं. हम अपने पेशेवर जीवन में हार रहे हैं. जीवन से निराश हैं. व्यवसाय में घाटा हो रहा हैं. मित्र ने धोखा दिया.

मित्रों जीवन सीधी रेखा में नहीं चलता हैं. इस धरती पर आप के अनुसार ही सब कुछ घटित नहीं होगा. जीवन की एक चाल होती हैं, बस जीवन जीने के उसी कला को समक्षना होगा. जब मानव के अंदर हार का बोध होता हैं, तो नकारात्मक विचारों में ही उलझ जाता हैं. इंसान को यही सभलना चाहिये. मानव गलतियों का पुतला हैं. मानव कभी कभी जानते हुए भी गलती करता हैं.

स्वेटर मॉडर्न ने कहा था हारो नहीं जीतो तुम इस धरती पर रचनात्मक कार्य करने के लिये पैदा हुए हो. उनकी वाते  आज बदलती दुनिया में भी लागू होती हैं.

दोस्तों पूर्व के पोस्ट में मैंने बताया था कि जीवन का मूल लक्ष्य क्या हैं, विद्वानो में कोई आम राय नहीं हैं पूरी दुनिया में इस पर मतभेद कायम हैं. अभी भी इस विषय पर शोध जारी हैं. हम हताशा, कुंठा, निराशा से बचें. यह मानव के मन को कुंठा के उस दौर में ले जाती हैं, जहाँ से निकलना बहुत मुश्किल हैं. हम केवल एक कदम चले तो सही, गिरेंगे तो भी हमारी पूर्व की अवस्था बदल जायेगी. सकारात्मक सोच वह टॉनिक हैं जो इंसान के वजूद को ही बदल देती हैं. यही पर हम  सब को कुछ अपने जीवन के लिये चुनाव करना होगा. रात कितनी गहरी क्यों ना हो उजाला आने को नहीं रोक सकती हैं.

जीवन की धारा भी बहुत निराली होती हैं, दोस्तों भारत में अमिताभ बच्चन जैसे सुपर स्टार 1999ई में लगभग डूब गये थे. Abcl कम्पनी डूब गयी थी. कुछ निर्णय, कुछ चुनाव, धैर्य उन्हें फिर बुलंदियों पर पहुँचा दिया.
ऐसे कितनो की लिस्ट होगी. हम सब इस वात को जानते हैं.

हम सभी हिम्मत कभी नहीं हारे. हमेशा जीवटता के साथ अपने गोल को भेदने में लगे रहे. सुख दुःख जीवन के आभूषण हैं, इनका डटकर सामना करना चाहिये.

यदि जीवन में हम देखें तो सफल लोगों की लिस्ट बहुत लम्बी हैं, ऐसा क्यों हैं. लोगों के रचनात्मक कार्य मानव को प्रेरणा देते हैं. खुद को जगाने के लिये.

मानव के दिमाक में असीम क्षमता होती हैं, यह ज्ञान विन्दु हम सब जानते हैं. बस इसी शक्ति को अपने विकास में उपयोग करना होगा. दुनिया के अनेक महापुरुष कठिन परिस्थितियों में जीवन काट कर देश दुनिया के लिये एक उदाहरण बने. जो उन्होंने अपने जीवन से चाहा उसे प्राप्त किया. हम सब उठे जागे,  वह सब हम प्राप्त कर सकते हैं, जो हम सोच सकते हैं.
दोस्तों कमेन्ट और शेयर लाइक जरूर करें. थैंक्स.

Adesh Kumar Singh
Adesh Kumar Singh
I am adesh kumar singh, my education post graduate in sociology. My life target? What is the gole of life. My blogs www. thesocialduty.Com, my research only social issu, My phone nu mber-9795205824,my email-adeshkumarsingh93@gmail. com
http://www.thesocialduty.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *